X Close
X

बजट सत्र में विपक्ष के हंगामे के विरोध में मोदी-शाह समेत सभी भाजपा सांसद गुरुवार को उपवास करेंगे


38547-0c495d1f-b572
Jaipur:

नई दिल्ली.संसद की कार्यवाही नहीं चलने देने पर विपक्ष को घेरने के लिए भाजपा 12 अप्रैल को अनशन करेगी। खास बात यह रहेगी कि इसमें बीजेपी के सभी सांसदों के साथ नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी एक दिन का उपवास रखेंगे। इसे दलितों पर अत्याचार के विरोध में हाल ही में कांग्रेस की ओर से किए गए अनशन का जवाब माना जा रहा है। बता दें कि इस बजट सेशन में लोकसभा और राज्यसभा में हंगामे की वजह कोई काम नहीं हुआ। संसद के 250 घंटे बर्बाद हो गए। पक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर संसद नहीं चलने देने का आरोप लगा रहे हैं।

18 साल में सबसे कम कामकाज हुआ

- इस बजट सेशन में लोकसभा में कुल 23% और राज्यसभा में 28% कामकाज हुआ। इससे पहले 2000 में लोकसभा में प्रोडक्टिविटी 21% और राज्यसभा की 27% रही थी।
- इस बार, आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जा की मांग, कावेरी विवाद और नीरव मोदी जैसे मुद्दों पर कांग्रेस, टीडीपी और एआईएडीएमके समेत दूसरी विपक्षी पार्टियों ने हंगामा किया।

दोनों सदनों में 59 बैठकें हुईं, 78.5 घंटे कामकाज हुआ

कैसा रहा बजट सत्र?

लोकसभा 
बैठकें: कुल 29 (पहले चरण में 7 और दूसरे चरण में 22)
कामकाज: 34.5 घंटे
बर्बाद हुआ वक्त: कुल 127 घंटे 45 मिनट

राज्यसभा
बैठकें: कुल 30
कामकाज: 44 घंटे
बर्बाद हुआ वक्त:कुल 121 घंटे
कुल सवाल:दोनों सदनों में कुल 580 सवाल पूछे गए। लोकसभा में 17 और राज्यसभा में 19 सवालों का जवाब दिया गया।

बजट सत्र: हंगामे से संसद के 250 घंटे बर्बाद, 18 साल में लोकसभा-राज्यसभा में सबसे कम कामकाज

उपवास में 2 घंटे की देरी से पहुंचे थे राहुल
- राजघाट पर 9 अप्रैल को कांग्रेस के अनशन का वक्त सुबह 11 बजे तय किया गया था। शीला दीक्षित, अजय माकन समेत कई नेताओं ने बापू की समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित कर उपवास शुरू किया। हालांकि, राहुल गांधी दोपहर 1 बजे राजघाट पहुंचे। कांग्रेस नेताओं का उपवास शाम 5 बजे तक चला था।

विवाद भी हुआ: टाइटलर-सज्जन सिंह उपवास से लौट गए थे
- राहुल गांधी के आने से पहले जगदीश टाइटलर और सज्जन सिंह भी राजघाट पहुंच गए थे, लेकिन कुछ ही देर में कार्यक्रम से बाहर निकलते देखे गए। यहां टाइटलर और दिल्ली के कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के बीच कुछ बातचीत भी हुई।

 

- न्यूज एजेंसी ने नाम जाहिर नहीं करना चाह रहे पार्टी के एक नेता के हवाले से बताया कि टाइटलर और सज्जन से कहा गया था कि वे मंच पर ना बैठें।
- इसके बाद टाइटलर ने कहा था- "1984 के दंगा केस में उन्हें सीबीआई की ओर से क्लीन चिट मिल चुकी है, अब उनके खिलाफ कोई केस नहीं है। मैंने माकन से राहुल गांधी के आने के बारे में सवाल पूछा था।''

Aaj Ka Leader