X Close
X

पहले फिल्‍मों के लिए भटकते थे राजकुमार राव, अब पसंद आई तो चुनते हैं


Rajkumar-Rao-19-09-17
नई दिल्‍ली: अपनी एक्टिंग के लिए नेशनल अवॉर्ड जीत चुके एक्‍टर राजकुमार राव अपनी पिछली फिल्‍म 'बरेली की बर्फी' के लिए खूब तारीफें लूट रहे हैं।
कमर्शियल सिनेमा से लेकर 'शाहिद', 'अलीगढ़' और 'ट्रैप्‍ड' जैसी फिल्‍मों तक में शानदार एक्टिंग के लिए वाहवाही लूटने वाले राजकुमार लगभग हर तरह की फिल्‍मों में नजर आ चुके हैं। ऐसे में अब राजकुमार राव का कहना है कि पहले वह अपनी अगली फिल्म की खोज करते थे लेकिन अब उनके पास अच्छी कहानियों के आधार पर फिल्में चुनने का ऑप्‍शन मौजूद है। बता दें कि राजकुमार ने साल 2010 में फिल्म 'लव सेक्स और धोखा' से बॉलीवुड में कदम रखा था। इस साल राजकुमार राव की तीन फिल्‍में 'ट्रैप्‍ड', 'बहन होगी तेरी' और 'बरेली की बर्फी' रिलीज हो चुकी है और उनकी अगली फिल्‍म 'न्‍यूटन' जल्‍द ही रिलीज होने वाली है। राजकुमार की 'न्यूटन' का वर्ल्ड प्रीमियर बर्लिन अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में हुआ है।
ऐसे में न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए जब उनसे पूछा गया कि इतनी कम उम्र में इतनी सफलता मिलने पर उनके भीतर कोई बदलाव नजर आता है, तो राजकुमार ने कहा, 'एक अभिनेता के रूप में कुछ खास बदलाव नहीं आए हैं। मैं हमेशा से अच्छी कहानियों का हिस्सा बनना चाहता हूं। एक बदलाव यह आया है कि अब मेरे पास अच्छी कहानियां चुनने का विकल्प मौजूद है। ' उन्होंने कहा, 'पहले मैं सिर्फ फिल्मों की तलाश में रहता था लेकिन अब मैं अच्छी कहानियों के आधार पर फिल्में चुनता हूं।' इस साल रिलीज हुई फिल्‍म 'बरेली की बर्फी' में राजकुमार राव ने प्रीतम विद्रोही का किरदार निभाया था और उन्‍हें इसके लिए खूब सरहाना मिली। अपनी संजीदा फिल्‍मों और कमर्शियल सिनेमा पर बात करते हुए राजकुमार ने कहा, 'मैंने इन सभी को कभी भी बांटा नहीं। 'काई पो चे', 'क्वीन', 'बहन होगी तेरी' और 'बरेली की बर्फी' जैसी फिल्में वास्तव में स्वतंत्र फिल्में नहीं हैं। क्या आप किसी एक फिल्म का नाम ले सकते हैं?
और वो भी ऐसे समय में जब कमर्शियल और पैरलर सिनेमा के बीच की लकीर मिट रही हैं। 'न्यूटन' की बात करें तो यह फिल्‍म एक युवा सरकारी अधिकारी के इर्द-गिर्द घूमती है जिसे एक नक्सल-नियंत्रित शहर में चुनावी कार्य करने के लिए भेजा जाता है और उसके वैचारिक संघर्ष उसे कैसी स्थिति में पहुंचा देते हैं। वास्तविक स्थानों पर इस फिल्म की शूटिंग के अनुभवों बारे में राजकुमार ने कहा, 'मुझे इसकी कहानी पहली बार में ही पसंद आ गई थी।
किरदार एक आदर्शवादी है और बदलाव लाना चाहता है, हालांकि वह एक भ्रष्ट व्यवस्था का हिस्सा है।' राजकुमार ने कहा, 'फिर मुझे पता चला कि इस फिल्म की शूटिंग छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में होगी.. हां, पहले मैं डर गया था। लेकिन जब मैं वहां गया तो ग्रामीणों ने हमारा स्वागत किया।' वह क्षेत्र नक्सल प्रभावित नहीं है और प्रकृति की सुंदरता भी वहां अद्भुत है। इसलिए शूटिंग अच्छी रही और हम सभी ने इसका आनंद उठाया। बता दें कि अमित मसुरकर द्वारा निर्देशित 'न्यूटन' भारत में 22 सितंबर को रिलीज होगी।

(AAJ KA LEADER)

Aaj Ka Leader